Saaras News - सारस न्यूज़ - चुन - चुन के हर खबर, ताकि आप न रहें बेखबर

अतिक्रमण से रेलवे का विकास बाधित : जीएम, एनएफ रेलवे, मालेगांव

Oct 21, 2021

बीरबल महतो, सारस न्यूज़, किशनगंज।

एनएफ रेलवे के जीएम अंशुल गुप्ता ने कहा कि सिलीगुड़ी टाउन स्टेशन समेत अन्य जगहों पर रेलवे की जमीन पर अतिक्रमण से रेलवे का विकास कार्य प्रभावित हो रहा है। रेलवे की जमीन पर किए गए अतिक्रमण को मुक्त कराना रेलवे के लिए चिंता का सबब बना हुआ है। उक्त जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए स्थानीय पुलिस प्रशासन से सहयोग मांगा जा रहा है। वह बुधवार को एनजेपी रेलवे स्टेशन व यार्ड के निरीक्षण करने के दौरान एनजेपी आरई सभा कक्ष में संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक ओर रेलवे के जमीन पर किए गए अतिक्रमण को खाली कराने का प्रयास हो रहा है, तो दूसरी ओर सिलीगुड़ी टाउन स्टेशन पर जो जमीन रेलवे के अधीन है, उसके सौंदर्यीकरण कराने का कार्य किया जा रहा है।

एनएफ रेलवे एनजेपी के आधिकारिक सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार विशेष रूप से एनजेपी व सिलीगुड़ी जंक्शन के बीच रेलवे के जमीन ज्यादातर अतिक्रमण किए गए हैं। इसके ट्रैक तक का अतिक्रमण कर लिया गया है। सिर्फ एनजेपी में सौ से ज्यादा अवैध रूप से पक्का निर्माण कर लिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार एनजेपी टाउन स्टेशन के निकट बागराकोट हो अथवा टिकियापाड़ा, इन जगहों पर बस्ती तक स्थापित कर ली गई है। वहीं महाबीर स्थान फ्लाई ओवर के नीचे रेलवे ट्रैक से सटकर दुकानें स्थापित कर ली गई हैं। यहां तक दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे का भी ट्रैक अतिक्रमण का शिकार हो गया है। अतिक्रमण को हटाने के लिए जब भी रेलवे के अधिकारी आगे कदम बढ़ाए स्थानीय लोगों व दुकानदारों के विरोध की वजह से उन्हें पीछे होना पड़ा।
रेलवे अधिकारियों का कहना है कि अतिक्रमण हटाने के पीछे कानून व्यवस्था का मामला जुड़ा हुआ है, जिसके चलते हम इसे हटा नहीं पा रहे हैं। इस दौरान जीएम ने एनजेपी के समग्र विकास पर जोर देते हुए स्टेशन तथा अन्य सेक्शन का निरीक्षण किया। इस क्रम में एनएफ रेलवे के जीएम अंशुल गुप्ता ने कहा कि एनजेपी रेलवे स्टेशन पूरे भारतीय रेलवे का महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है। यह स्टेशन पूरे पूर्वोत्तर भारत के कनेक्टिविटी का स्रोत है। यह स्टेशन ना हो तो शायद पूर्वोत्तर भारत की कनेक्टिविटी ना हो पाए। उन्होंने कहा कि मेरे दौरे का मुख्य उद्देश्य था कि इस स्टेशन का किस तरह से समग्र विकास हो, यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं किस तरह से मुहैया कराई जाए। क्योंकि अब पूरे पूर्वोत्तर भारत में रेल कनेक्टिविटी बढ़ रही है। इंफाल, कोहिमा, शिलांग व आइजोल को रेलवे से जोड़ा जा रहा है। इटानगर तक रेल पहुंच गया है। इसे देखते हुए एनजेपी तथा आसपास के क्षेत्र का समग्र विकास होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अगले तीन महीने में हम किस तरह से एनजेपी स्टेशन व आसपास के स्टेशनों का इंप्रूवमेंट, ऑपरेटिंग सिस्टम तथा सिगनलिंग सिस्टम का इंप्रूवमेंट तथा गाड़ियों की रख-रखाव सही ढंग से कर सकें, इन सब विषयों पर ध्यान दिया जा रहा है।
एनजेपी से बांग्लादेश यात्री ट्रेन सेवा कब से शुरू होगी, इस बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि एनजेपी से बांग्लादेश यात्री ट्रेन सेवा शुरू करने की पूरी तैयारी शुरू कर ली गई है। बांग्लादेश से जब फिर से विजा देना शुरू हो जाएगा, तब से ट्रेन सेवा शुरू हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

error: Content is protected !!