Saaras News - सारस न्यूज़ - चुन - चुन के हर खबर, ताकि आप न रहें बेखबर

पूर्णिया के सदर अस्पताल में सौ बेड का चाइल्ड वार्ड तैयार, जल्द लगेगा वेंटिलेटर।

Jul 31, 2021

बीरबल महतो, सारस न्यूज़, पूर्णिया।

महामारी की तीसरी लहर से बचने के लिए सदर अस्पताल पूर्णियां में बच्चा वार्ड तैयार किया गया है। अन्य सुविधाओं के साथ पेट्रियोटिक वेंटिलेटर जल्द स्थापित किया जाएगा। ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए पीएसए प्लांट लगभग अंतिम चरण में है। डेडीकेटेड कोविड सेंटर पैट्रिक वेंटिलेटर के साथ जल्द ही संचालित किया जाएगा। अस्पताल में पहले से पांच वेंटिलेटरों के साथ डेडीकेटेड सेंटर संचालित हो रहा है। फिलहाल सेंट्रलाइज ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था सभी वार्डों में कर दी गई है । इस चरण में बच्चों के अधिक संक्रमित होने के कारण रेडिएंट वार्मर की व्यवस्था की गई है। निजी विशेषज्ञ चिकित्सक को चयनित किया गया है ताकि जरूरत पड़ने पर सदर अस्पताल में सेवा ली जा सके। सिविल सर्जन डा. एसके वर्मा ने बताया कि विभाग सभी तरह की तैयारी को अपटुडेट करने में विभाग जुटा है। मेडिकल संसाधन को अपग्रेड किया जा रहा है। चिकित्सक और स्टाफ को प्रशिक्षित किया गया है विभाग हर चुनौती का सामना करने की तैयार है। केयर इंडिया के तत्वावधान में राज्य स्तर की विशेषज्ञ टीम ने चिकित्सकों और स्टाफ को प्रशिक्षित किया है।

विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को प्रशिक्षण से किया जाएगा दूर :-

जिले में शिशु रोग विशेषज्ञ का घोर अभाव है। जिले में सरकारी अस्पताल में महज पांच चिकित्सक हैं। अनुमंडल अस्पताल बनमनखी में महज दो शिशु रोग विशेषज्ञ है। अनुमंडल अस्पताल धमदाहा में एक और सदर अस्पताल में तीन चिकित्सक है। इतने कम विशेषज्ञ चिकित्सक के अभाव में कोरोना की तीसरे लहर की जंग बड़ी चुनौती है।

100 बेड का बच्चा वार्ड तैयार :-

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सदर अस्पताल समेत सभी अनुमंडल अस्पताल को भी तैयार किया जा रहा है। नियमित बच्चा वार्ड के ऊपरी मंजिल पर विशेष कोविड बच्चा वार्ड तैयार किया गया है। 100 बेड का बच्चा वार्ड आरक्षित किया गया है। यह नवजात के लिए एसएनसीयू वार्ड और नियमित बच्चा वार्ड के अतिरिक्त होगा। इसमें केंद्रीकृत ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था है। अनुमंडल अस्पताल धमदाहा में 25 और अनुमंडल अस्पताल बनमनखी में भी 25 बेड डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर की तर्ज पर केवल बच्चों के लिए तैयार किया गया है। पांच निजी अस्पताल को बच्चों के उपचार के लिए तैयार किया गया है। विभाग की मेडिकल टीम ने उक्त अस्पताल का भ्रमण कर संसाधन और सुविधाओं का आकलन कर चिह्नित कर चुके है। चिकित्सकों की कमी को पूरा करने लिए विशेष प्रशिक्षण दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

error: Content is protected !!